श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के मौके पर खुला सालों से बंद नेपाल का ये प्राचीन मंदिर

इंडो नेपाल न्यूज ब्यूरो :आज हम आपको नेपाल के उस मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं, जो 2015 में आए भूकंप के कारण पिछले तीन वर्षों से बंद पड़ा था। कहा जाता है कि उस साल के भीष्म भूंकप ने नेपाल के साथ-साथ इस मंदिर को पूरी तरह से तहस-नहस कर दिया था। पुनः इस मंदिर का निर्माण कर श्री कृष्ण जन्माष्टमी के मौके पर इसके दरवाज़े भक्तों के लिए खोल दिए गए हैं। तीन साल बाद यहां के इस प्रसिद्ध कृष्ण मंदिर को रविवार यानि कि कृष्ण जन्माष्टमी को खोला गया है। जिसमें दर्शन करने के लिए भक्तों का जनसैलाब उमड़ा है।

लोगों का कहना है कि मंदिर पहले से ज्यादा खूबसूरत दिख रहा है। इसे रंगीन झंडे, बैनर और लाइट के साथ खूबसूरती से सजाया गया है। इस कृष्ण मंदिर में तीन मंजिला इमारत व 21 शिखर है। जिसमें मंदिर की पहली मंजिल के पत्थरों पर हिंदू धर्म के महाकाव्य महाभारत से जुड़ी घटनाओं को दर्शाया गया है। तो वहीं मंदिर की दूसरी मंजिल में रामायण से जुड़े दृश्यों का वर्णन बाख़ूबी किया गया है। मान्यता के अनुसार इस कृष्ण मंदिर का पूरा निर्माण भारतीय शिखर शैली के आधार पर किया गया है। इस मंदिर के बारे में किवदंती है कि एक रात मल्ल राजा ने सपने में कृष्ण और राधा को देखा और अपने महल के सामने मंदिर बनाने का निर्देश दिया। इसकी एक प्रतिकृति राजा ने महल के अंदर परिसर में बनवाई थी।


धूम-धाम से मनाई जा रही है कृष्ण जन्माष्टमी
क्योंकि यह कृष्ण मंदिर तीन साल बाद खुला है इसलिए श्रद्धालुओं में इसे लेकर खास उत्साह देखने को मिल रहा है। जन्माष्टमी का त्योहार यहां बड़ी धूम-धाम से मनाया जा रहा है। खूबसूरत रंगीन झंडे, बैनर और लाइट से मंदिर को सजाया गया है। यहां का नज़ारा काफ़ी खूबसूत नज़र आ रहा है।

More from indonepalnews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

  • अमेठी में होगा रोचक चुनाव, कांग्रेश और भाजपा के लिए नाक का सवाल
  • साफ-सुथरे चुनाव के लिए आयोग ने बनाया जनता को प्रहरी
  • सी विजन एप करें लोड और निर्वाचन आयोग को सीधे करे शिकायत
  • बुराई पर अच्छाई की जीत पर्व होली की हार्दिक शुभकामनाएं- इंडोनेपालन्यूज़
toggle