सजायाफ्ता अमरमणि त्रिपाठी मेडिकल कॉलेज गोरखपुर से ‘लापता’

आई एन न्यूज ब्यूरो गोरखपुर:कवयित्री मधुमिता शुक्ला हत्याकांड में सजायाफ्ता पूर्व मंत्री अमरमणि त्रिपाठी और उनकी पत्नी मधुमणि त्रिपाठी गुरुवार को डिस्चार्ज होने के बाद मेडिकल कॉलेज से ‘लापता’ हो गए। वैसे तो उन्हें जेल जाना था मगर वे कहां गए, यह किसी को खबर नहीं है। प्रशासन के हाथ-पांव फूले हुए हैं और किसी को जवाब नहीं सूझ रहा है।
पूर्व मंत्री अमरमणि त्रिपाठी और उनकी पत्नी मधु मणि उम्रकैद की सजा काट रहे हैं। दोनों जिला कारागार गोरखपुर में रखे गए हैं। तबीयत बिगड़ने पर 13 दिसंबर को उन्हें बीआरडी मेडिकल कॉलेज के न्यूरो सर्जरी विभाग में भर्ती कराया गया। दिसंबर में लखनऊ के लोहिया संस्थान, फिर दिल्ली के एम्स में दिखाया गया। जनवरी में वह वापस मेडिकल कॉलेज आए।
पुलिस ने मामले पर साधी चुप्पी
फरवरी में उन्हें फिर एम्स (नई दिल्ली) भेजा गया है। जिस दिन वह दिल्ली गए थे, उसी दिन उनकी बेटी का दिल्ली में तिलक समारोह था। पूर्व मंत्री ने इस कार्यक्रम में शरीक होने के लिए परोल मांगी थी जो अदालत ने अस्वीकार कर दी थी।
दिल्ली से वह 22 फरवरी को लौटै। तभी से मेडिकल कालेज के मेडिसिन विभाग में भर्ती रहे। डॉक्टरों ने उनकी हालत में सुधार होते देख गुरुवार शाम उन्हें 5 बजे डिस्चार्ज कर दिया। इसके बाद उन्हें जेल जाना था, मगर वह वहां पहुंचे नहीं। मेडिकल कॉलेज के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. जीसी श्रीवास्तव ने बताया कि उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया।
जेल अधीक्षक रामधनी का कहना है कि सूचना थी कि वह डिस्चार्ज होकर आने वाले हैं, मगर रात 10 बजे तक नहीं आए। पुलिस लाइन के आरआई उमेश दुबे का कहना है कि वह मेडिकल कॉलेज में ही हैं और वहां पर चार महिला चार पुरुष सिपाही तैनात हैं। अब सवाल है कि पूर्व मंत्री दंपती हैं कहां पर? मेडिकल कॉलेज से डिस्चार्ज हो चुके हैं और जेल पहुंचे नहीं हैं। अफसर इस सवाल पर अभी कुछ भी कहने से बच रहे हैं।

(सभार नवभारत टाइम्स)

More from indonepalnews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

  • अमेठी में होगा रोचक चुनाव, कांग्रेश और भाजपा के लिए नाक का सवाल
  • साफ-सुथरे चुनाव के लिए आयोग ने बनाया जनता को प्रहरी
  • सी विजन एप करें लोड और निर्वाचन आयोग को सीधे करे शिकायत
  • बुराई पर अच्छाई की जीत पर्व होली की हार्दिक शुभकामनाएं- इंडोनेपालन्यूज़
toggle