UP:निषाद पार्टी ने छोड़ा सपा का दामन,संजय पहुंचे योगी की दरबार 

UP:निषाद पार्टी ने छोड़ा सपा का दामन,संजय पहुंचे योगी की दरबार 
महाराजगंज से कुंवर अखिलेश सिंह का रास्ता हुआ क्लियर।
IndoNepalnews Lucknow: (चुनाव डेस्क)
निषाद पार्टी ने सपा को बड़ा झटका दिया है। पार्टी के अध्यक्ष डॉ संजय निषाद ने शुक्रवार को घोषणा की है कि वह गठबंधन के साथ नहीं है। निषाद पार्टी अभी हाल ही में सपा में शामिल हुई है।
बता दे कि सपा-बसपा-रालोद गठबंधन में मंगलवार को निर्बल इंडियन शोषित हमारा आम दल (निषाद) के जुड़ने का एलान हुआ लेकिन, शुक्रवार तक इस रिश्ते में दरार पड़ गई। निषाद पार्टी के अध्यक्ष डॉ. संजय निषाद गठबंधन से छिटक गए और नई संभावनाओं की तलाश में भाजपा मुख्यालय पहुंच गए। संजय निषाद ने लोकसभा चुनाव प्रभारी जेपी नड्डा, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय और प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल से मुलाकात की। बाद में संजय ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी भेंट की। उनके साथ स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ भी थे।
बता दे कि संजय निषाद के पुत्र प्रवीण निषाद गोरखपुर से सपा के सांसद हैं।संकेत मिल रहे हैं कि अब निषाद भाजपा से तालमेल करेंगे। उन्हें गोरखपुर, घोसी, भदोही या जौनपुर लोकसभा सीट में से एक-दो मिल सकती है।
सपा-बसपा गठबंधन को मजबूत करने का दम भरने वाले डॉ. संजय निषाद ने शुक्रवार को कहा ‘महागठबंधन में हम गए लेकिन हमें लगा कि धोखा हो गया। अखिलेश यादव ने हमें सम्मान नहीं दिया। हमारा बैनर-पोस्टर में कहीं नाम नहीं दिया गया। पहले ही दिन से हमें लगा कि सामान्य स्थिति नहीं है और कहीं न कहीं हमें मिटाने की साजिश हो रही है।उन्होने कहा कि हम अकेले चुनाव लड़ेंगे। हम दूसरी संभावना भी देख रहे हैं। संजय निषाद ने बसपा प्रमुख पर भी गंभीर आरोप लगाए। उनके तेवर तीखे थे। भाजपा मुख्यालय पहुंचे संजय निषाद ने प्रमुख नेताओं से मुलाकात कर नई संभावनाओं की नींव रख दी।
उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के इस्तीफे के बाद गोरखपुर लोकसभा क्षेत्र के उप चुनाव में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने संजय निषाद के पुत्र प्रवीण निषाद को सपा का उम्मीदवार बनाया। प्रवीण निषाद ने गोरखपुर में भाजपा उम्मीदवार को हरा दिया।
गठबंधन में निषाद के शामिल होने के बाद सीटों को लेकर पेंच फंस गया। सपा गोरखपुर सीट पर प्रवीण को सपा के सिंबल पर चुनाव लड़ाने को तैयार थी लेकिन, संजय निषाद महराजगंज सीट भी अपने सिंबल पर लडऩे की मांग कर रहे थे। बात नहीं बनी और वह खफा हो गए। सूत्रों का कहना है कि योगी आदित्यनाथ की सहमति बन गई तो भाजपा प्रवीण निषाद को ही गोरखपुर से उम्मीदवार बना सकते है। इसके अलावा घोसी संसदीय सीट पर भी विकल्प खुला है। शाम को भाजपा मुख्यालय में कोर ग्रुप की बैठक में भी संजय निषाद पर चर्चा हुई लेकिन, भाजपा ने इस पर अपना पत्ता नहीं खोला है।
सूत्रों की मानें तो सपा से महाराजगंज लोकसभा सीट से कुंवर अखिलेश सिंह का उम्मीदवार बनाया जाना लगभग तय हो गया है।

More from indonepalnews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

  • प्रत्येक विधानसभा की 5 ईवीएम से होगा वीवीपैट का मिलान
  • साफ-सुथरे चुनाव के लिए आयोग ने बनाया जनता को प्रहरी
  • सी विजन एप करें लोड और निर्वाचन आयोग को सीधे करे शिकायत
  • वायु सेना ने पेश किए पाक एफ- 16 मार गिराने के सबूत
  • बच्चे कर रहे हैं लोगों को मतदान के प्रति जागरूक
  • ओडिशा में मलकानगिरी की 6 बूथों पर नक्सली डर से नहीं हुआ मतदान
toggle